Home देश Semicon India Conference 2023 में बोले PM मोदी- केवल 2 साल में...

Semicon India Conference 2023 में बोले PM मोदी- केवल 2 साल में राष्ट्र का इलेक्ट्रॉनिक्स निर्यात दोगुना हुआ

57
0
Semicon India Conference 2023

Semicon India Conference 2023: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गांधीनगर के महात्मा मंदिर में सेमीकॉनइंडिया 2023 प्रदर्शनी का निरीक्षण किया. इसके बाद सेमीकंडक्टर क्रांति आने वाली है। सेमीकॉनइंडिया सम्मेलन 2023 को संबोधित करते हुए. उन्होंने कहा, जैसे सॉफ्टवेयर को अपडेट करना जरूरी होता है, वैसे ही ये कार्यक्रम भी है. सेमीकॉन इंडिया के माध्यम से इंडस्ट्री के साथ, एक्सपर्ट के साथ, पॉलिसी मेकर के साथ संबंध भी अपडेट होते रहते हैं.

पीएम मोदी ने कहा, हम सभी पिछले वर्ष सेमीकॉन इंडिया के पहले एडिशन में हिस्सा लिया था और तब चर्चा इस बात की थी कि भारत में सेमीकंडक्टर सेक्टर में क्यों इंवेस्ट करना चाहिए. लोग सवाल कर रहे थे. अब हम एक साल बाद मिल रहे हैं तो सवाल बदल गए हैं, अब कहा जा रहा है- Why not invest. भारत की Democracy, भारत की Demography, भारत से मिलने वाला Dividend आपके बिजनेस को भी डबल-ट्रिपल करने वाला है. ‘सेमीकॉन इंडिया’ के पहले संस्करण के समय, बहस और चर्चा ‘क्यों निवेश करें’ (भारत के सेमीकंडक्टर क्षेत्र में) के इर्द-गिर्द घूमती थी. लेकिन आज, नए प्रश्न हैं; पूछा जा रहा है कि ‘निवेश क्यों नहीं’?

पीएम मोदी ने कहा, 2014 में भारत का इलेक्ट्रॉनिक प्रोडक्शन 30 बिलियन डॉलर से भी कम था, आज ये बढ़कर 100 बिलियन डॉलर को पार कर गया है. सिर्फ 2 वर्ष में भारत से इलेक्ट्रॉनिक निर्यात भी दोगुने से ज्यादा हो गया है. भारत में बने मोबाइल फोन का निर्यात भी दोगुना हो चुका है. जो देश कभी मोबाइल फोन का आयातक था, वह अब दुनिया के बेस्ट फोन बना रहा था, उनका निर्यात कर रहा है. भारत में 2014 में 25 करोड़ इंटरनेट कनेक्शन हुआ करते थे। आज यह संख्या 85 करोड़ से अधिक है.

यह संख्या न केवल भारत की सफलता के बारे में बता रही है, बल्कि आपके (सेमीकंडक्टर) उद्योग के लिए बढ़ते व्यवसाय के संकेतक के रूप में भी काम कर रही है. आज भारत की Indian aspersions भारत के विकास को ड्राइव कर रही है। आज भारत, दुनिया का वह देश है जहां extreme poverty तेजी से खत्म हो रही है. आज भारत वह देश है जहां Neo-middle class तेजी से बढ़ रहा है.

आगे उन्होंने कहा कि. “भारत को इस बात का भी एहसास है कि semiconductor सिर्फ हमारी ज़रूरत नहीं है. दुनिया को भी आज एक trusted, reliable chip supply chain की जरूरत है. दुनिया की सबसे बड़ी democracy से बेहतर भला ये trusted partner कौन हो सकता है? भारत ने सेमीकॉन उद्योग को दुनिया में तेजी से विकास के साथ फलने-फूलने में बड़ी भूमिका निभाई है. आज दुनिया इंडस्ट्री 4.0 का दौर देख रही है.”

पीएम मोदी ने कहा कि “गौरतलब है कि जब भी ऐसी कोई औद्योगिक क्रांति हुई है तो उसका आधार हमेशा किसी खास क्षेत्र के लोगों की आकांक्षाएं ही रही हैं. मैं चौथी औद्योगिक क्रांति और भारत की आकांक्षाओं के बीच वही संबंध देख सकता हूं जो मैंने पूर्व औद्योगिक क्रांति और अमेरिकी सपनों के बीच देखा था! भारत पर tech sector को भरोसा है क्योंकि यहां technology का तेजी से विस्तार हो रहा है. आज भारत पर semiconductor industry को भरोसा है क्योंकि हमारे पास massive talent pool है. Skilled engineers और designers की ताकत है.

भारत दुनिया के उन देशों में से एक है जहां कॉरपोरेट टैक्स सबसे कम है. हमने कराधान प्रक्रिया को फेसलेस और सीमलेस बना दिया है! हमने कई अप्रचलित कानूनों और अनुपालनों को समाप्त करके व्यापार करने में आसानी सुनिश्चित की है. सरकार ने सेमीकंडक्टर उद्योग को विशेष प्रोत्साहन दिया है. ये निर्णय, ये नीतियां सेमीकंडक्टर उद्योग के लिए भारत द्वारा बिछाए गए रेड कार्पेट का प्रतिबिंब हैं.

हमने कराधान प्रक्रिया को फेसलेस और सीमलेस बनाया है. हमने ईज ऑफ डूइंग बिजनेस के रास्ते में पुराने कानून और अनुपालन को खत्म कर दिया है। सेमीकंडक्टर उद्योग के लिए सरकार ने विशेष प्रोत्साहन भी दिया है. यह निर्णय और अभिलेख इसमें दर्शाया गया है कि भारत सेमीकंडक्टर उद्योग के लिए रेड कार्पेट प्लेसमेंट रखा जा रहा है।

Previous articleकौन है आपके लिवर का दुश्मन? कितना खतरनाक है हेपेटाइटिस-बी?
Next articleमशहूर एक्टर को मुख्यमंत्री कहने पर ट्रोल हुईं उर्वशी रौतेला