Home देश NDA Meeting: जेपी नड्डा ने NDA को बताया भारत की मजबूती और...

NDA Meeting: जेपी नड्डा ने NDA को बताया भारत की मजबूती और UPA को भ्रष्टाचार और घोटालों का टोला

68
0
जेपी नड्डा ने NDA को बताया भारत की मजबूती

NDA Meeting: भाजपा राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा ने नई दिल्ली में एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित किया. इस दौरान उन्होंने कहा. कल राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन की बैठक शाम को आहुत की गई है. पिछले 9 सालों में NDA का जो डेवलमेंट का एजेंडा है, जो स्कीम्स हैं, जो नीतियां हैं, जो पीएम मोदी के नेतृत्व में चल रही हैं, इसमें एनडीए के सभी दलों ने रूचि दिखाई है. राष्ट्रीय अध्यक्ष ने आगे कहा, डायरेक्ट बेनिफिट ट्रांसफर के तहत 28 लाख करोड़ रुपये सीधे लाभार्थियों के खाते में ट्रांसफर किए गए हैं. हमने लगभग 4-5 लाख करोड़ रुपये की लीकेज को बंद कर दिया है. इसके अलावा, शासन में डिजिटल उपकरणों का उपयोग बढ़ा है, जिससे पारदर्शिता आई है.

जेपी नड्डा ने बीते 9 साल BJP की उपलब्धी को गिनाया

जेपी नड्डा ने कहा, “9 साल के अंदर गांव, गरीब, शोषित, पीड़ित, वंचित, दलित, युवा, महिला, किसान इन सबके प्रति स्कीम्स को फोकस किया गया है. इससे इनके सशक्तिकरण में हमें बहुत सफलता मिली है. दुनिया कई कारणों से वैश्विक प्रतिकूल परिस्थितियों का सामना कर रही है. इसके बावजूद, आईएमएफ ने कहा है कि भारत की अर्थव्यवस्था स्थिर है…मॉर्गन स्टेनली के अनुसार, भारत सबसे तेजी से बढ़ती अर्थव्यवस्था है और यह एशिया और वैश्विक विकास के लिए एक प्रमुख चालक है.

जेपी नड्डा ने कहा, “पिछले 9 वर्षों में पीएम मोदी के नेतृत्व में एक मजबूत लीडरशिप देखने को मिली है, जिसको देश ने भी सराहा है और एक बहुत ही पॉजिटिव वातावरण बना है. कोविड प्रबंधन में पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत ने दुनिया में मिसाल कायम की है. आर्थिक दृष्टि से भी देखा जाए तो जब दुनिया आर्थिक मंदी से गुजर रही है, इसके बावजूद IMF की रिपोर्ट कहती है कि भारत की आर्थिक स्थिति बहुत ही अच्छी है.”

जेपी नड्डा ने NDA को बताया भारत की मजबूती और UPA को भ्रष्टाचार और घोटालों का टोला

आज NDA के प्रति लोगों का रूझान है, ये गठबंधन सत्ता के लिए नहीं है. ये गठबंधन सेवा के लिए है, भारत को मजबूत करने के लिए है. जेपी नड्डा ने UPA पर हमला बोलते हुए बोले, कहीं की ईंट, कहीं का रोड़ा भानुमति ने कुनबा जोड़ा. आगे कहा जहां तक UPA का सवाल है, ये भानुमति का कुनबा है. ये ऐसा गठबंधन है, जिसके पास न तो नेता है और न ही नीयत है, न नीति है और न ही फैसला लेने की ताकत है. यह 10 साल की UPA सरकार के भ्रष्टाचार और घोटालों का टोला है.

Previous articleOpposition Meeting: राघव चड्ढा ने बताई शरद पवार के विपक्षी बैठक में न शामिल होने की असली वजह, क्या कल हो सकते है शामिल?
Next articleModi VS Opposition: 26 के मुकाबले क्या 38 में दिखेगा 24 में दम? बेंगलुरु में विपक्ष तो दिल्ली में NDA का महाजुटाव